रविवार, 1 नवंबर 2009

टैलेंट

यादों के रिजर्व बैंक से
कागज़ पे जरा कंटेंट उतार लूँ


यांत्रिक सभ्यता के पुर्जे हैं हम
सही टैलेंट का नाम सुना है कम


क्या सभागारों में माइक पकड़कर
भाषण झाड़ना टैलेंट है !
या छोटे - बड़े परदों पर
हाव भाव दिखाना टैलेंट है !

हिंसा को हीरोइज्म बनाकर
टीनेज लव को मेन स्टोरी का रूप देकर
आवार्डों के बारिश में भीगना टैलेंट है !


सो काल्ड ब्यूरोक्रेट्स के बीच
रैंप पर कैट वाक करके
विश्व सुंदरी का मुकुट हासिल करना टैलेंट है !


नहीं !
हे मानव पहचानो !
पहचानो असली टैलेंट को !

खून टपकती अंगुलियों से
टोकरियाँ बनाना टैलेंट है
कच्ची मिट्टी को आकार देना टैलेंट है


ग्रीष्म ताप की परवाह किए बिना
नीड़ का निर्माण करना टैलेंट है
मोची, बढई और किसानों का
श्रम असली टैलेंट है .

2 टिप्‍पणियां:

AlbelaKhatri.com ने कहा…

वाह !
धन्य कर दिया आपके टेलेंट ने
खून टपकती अंगुलियों से
टोकरियाँ बनाना टैलेंट है
कच्ची मिट्टी को आकार देना टैलेंट है


___अभिनन्दन !

sanjay vyas ने कहा…

bhaavpoorn,saarthak.